X-EEED तार्किक अभियोग्यता : सभी प्रतियोगी परीक्षा हेतु हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | X-EEED Logical Reasoning : For All Competitive Exam Hindi PDF Book

X-EEED तार्किक अभियोग्यता : सभी प्रतियोगी परीक्षा हेतु हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | X-EEED Logical Reasoning : For All Competitive Exam Hindi PDF Book


 X-EEED Logical Reasoning : For All Competitive Exam Hindi PDF Book


Pustak Ka Naam / Name of Book : X-EEED तार्किक अभियोग्यता / X-EEED Logical Reasoning 

Pustak Ki Bhasha / Language of Book : हिंदी / Hindi

Pustak Ka Akar / Size of Ebook : 4 MB

Pustak Mein Kul Prashth / Total pages in ebook : 120

Pustak Download Sthiti / Ebook Downloading Status  : Best 
(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )



अन्य तर्कशक्ति पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए- "तर्कशक्ति हिंदी पुस्तक"

X-EEED तार्किक अभियोग्यता में दी विषय सूची 



  1. न्याय निगमन (Syllogism)
  2. असमानता (Inequality)
  3. दिशा परिक्षण (Direction Test)
  4. रक्त सम्बन्ध (Blood Relation)
  5. क्रम (Ranking)
  6. पहेली परीक्षण (Puzzle Test)
  7. मशीन इनपुट (Machine Input)
  8. अक्षरों की समस्या पर आधारित (Problem Based on Alphabets)
  9. कोडिंग-डीकोडिंग Coding-Decoding)
  10. शब्दों का तार्किक क्रम एवं व्यवस्थितिकरण (Word Formation & Word Arrangemnt)
  11. गणितीय संक्रियाएं (Mathematical Operation)
  12. आंकड़ों का पर्याप्तता (Data Sufficiency)
  13. निर्णयन क्षमता Decision Making)
  14. कथन और पूर्वधारना (Statement & Assumptions)
  15. कथन और कार्यवाहियाँ (Statement & Course of Acton)
  16. कथन और तर्क (Statement & Arguments)
  17. कारण एवं परिणाम (Cause & Effect)

To read other Reasoning books click here"Reasoning Hindi Books"


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें


https://44.44exams.com/2019/01/x-eeed.html


इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 






श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 


One Quotation / एक उद्धरण

“यदि हम असफलता से शिक्षा प्राप्त करते हैं तो वह सफलता ही है।”
मैल्कम फोर्ब्स

--------------------------------

“Failure is success if we learn from it.”
Malcolm Forbes








Post a Comment

0 Comments